“इरादा” – मूवी रिव्यू – नसीरुद्दीन शाह और अरशद वारसी

Irada
फिल्म इरादा
रेटिंग 3.5
निर्देशक अपर्णा सिंह
स्टार कास्ट
नसीरुद्दीन शाह, अरशद वारसी, दिव्या दत्ता, शरद केलकर, सागरिका घटगे, रुमाना मोल्ला
शैली थ्रिलर ड्रामा फिल्म
अवधि 1 घण्टा 50 मिनट
रीलीज डेट 17 फरवरी  2017

बॉलीवुड के अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी और अरशद वारसी की जोड़ी एक बार फिर से आपको इस फिल्म इरादा में देखने को मिलेगी वैसे नवाजुद्दीन और अरशद वारसी इससे पहले ‘इश्कियां’ और ‘डेढ़ इश्किया’ में भी एकसाथ काम कर चुके है और दोनों ने अच्छा काम किया था और यह फिल्म अपर्णा सिंह के डायरेक्शन की पहली फिल्म है और इस फिल्म से वह अपने कैरियर की शुरुआत कर रही है।

कहानी – इस फिल्म की कहानी को भारत के राज्य पंजाब के ऊपर दिखाया है इस फिल्म में परबजीत वालिया (नसीरुद्दीन शाह) एक रिटायर्ड है और उनकी बेटी रिया (रुमान मोल्ला) के साथ रहते है और अपनी बेटी को सिविल सर्विसेस के एग्जाम की तैयारी कराते है वैसे परबजीत वालिया जिस जगह रहते है वहां पर पैडी (शरद केलकर) की फैक्ट्री है और उस फैक्ट्री से जहरीली गैस और गन्दा पानी निकलता है और उस बाकि को वापस रिवर्स बोरिंग से जमीन के अंदर डाला जाता है जिससे उस इलाके के सभी लोग ज्यादातर बीमार रहते है और इसी के कारण रिया भी बीमार हो जाती है इस बारे में लोग राज्य के मुख्यमंत्री रमनदीप (दिव्या दत्ता) से शिकायत करते है लेकिन वह भी पैडी से मिली हुई होती है और उसी का ही साथ देती है लेकिन एकदिन अचानक से पैडी की फैक्ट्री में ब्लास्ट हो जाता है और इस ब्लास्ट की जानकारी और जांच के लिए एनआईए ऑफिसर अर्जुन मिश्रा (अरशद वारसी) की ड्यूटी लगाई जाती है और दूसरी तरफ पत्रकार के किरदार में सिमी (सागरिका घटगे) भी इस केस में अपनी तफ्तीश करती रहती है। और फिल्म में क्या कुछ होता है इसके लिए तो फिल्म को देखना ही पड़ेगा।

निर्देशन और अभिनय – इस फिल्म से अपने बॉलीवुड फिल्म डायरेक्शन की शुरुआत करने वाली डायरेक्टर अपर्णा सिंह है और उन्होंने इस फिल्म की कहानी भी खुद ही लिखी है इस फिल्म के डायलॉग और स्क्रीनप्ले बहुत ही अच्छा है वही फिल्म में दूसरी और सिनेमेटोग्राफी, आर्ट वर्क और फिल्म को शूट करने की जगह भी सही है और फिल्म में कुछ डांस या आइटम सांग नही है जिससे फिल्म की कहानी और ज्यादा अच्छी लगती है, इस फिल्म में एक बार फिर से नसीरुद्दीन शाह और अरशद वारसी ने अपनी एक्टिंग और अभिनय से सभी का दिल जीत लिया है और दोनों ने फिल्म में बहुत ही अच्छा काम किया है वही फिल्म में मुख्यमंत्री के किरदार में दिव्या दत्ता ने भी सही काम किया है और फिल्म के बाकि का कलाकार ने भी सही काम किया है।

संगीत – इस फिल्म में बैकग्राउंड म्यूजिक और फिल्म में नीरज श्रीधर ने संगीत दिया है और समीर अनजान की लोरी भी अच्छी लगती है।

निर्णय – यह फिल्म सामाजिक मुद्दो पर है और इस फिल्म में आप एक बार फिर से नसीरुद्दीन शाह और अरशद वारसी करेंगे और फिल्म की कहानी आज के समाज के हिसाब से सही है और यह फिल्म देखने लायक है।

Leave a Reply